Sukanya Samriddhi Yojana Complete Details

Sukanya Samriddhi Yojana Complete Details

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आप सभी का | आज मैं आपलोगों को सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में बताने वाला हूँ | आपको Sukanya Samriddhi Yojana Complete Details आर्टिकल पढने के बाद इसके बारे में पूरी जानकारी मिल जाएगी | तो चलिए बिना देर किये शुरू करते हैं |

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) बालिकाओं के लिए एक छोटी जमा योजना है जो की ‘बेटी बचाओ बेटी पढाओ‘ अभियान के एक भाग के रूप में शुरू की गई थी | इससे 8.1 % तक का interest और आयकर अधिनियम, 1961 की धारा 80 C के तहत आयकर लाभ भी प्रदान होता है। और इस scheme में जो return मिलता है वो भी tax free होता है |

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए खाता कब खोलें ?

सुकन्या समृद्धि खाता किसी भी लड़की के जन्म के बाद 10 वर्ष की आयु के अन्दर खोला जा सकता है, जिसमें न्यूनतम जमा राशि 250 रुपये है (पहले यह 1,000 रुपये थी)। सुकन्या समृद्धि योजना खाते में न्यूनतम 250 रुपये और अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक जमा किए जा सकते हैं।

खाता किसी भी डाकघर या Bank के शाखाओं में खोला जा सकता है। जिस दिन या तारीख से आपने खाता खोला है उस तारीख से यह खाता 21 साल तक संचालित रहेगा या 18 वर्ष की होने के बाद लड़की की शादी तक संचालित रहेगा । लड़की के 18 वर्ष की आयु के बाद उसके उच्च शिक्षा खर्चों की आवश्यकता को पूरा करने के लिए शेष राशि के 50 प्रतिशत की निकासी की अनुमति है।

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के नियम क्या हैं ?

लड़की के माता पिता द्वारा लड़की के जन्म के बाद लड़की के नाम से खता खोला जा सकता है जब तक कि वह 10 साल की नहीं हो जाती | बालिकाओं के नाम पर केवल एक खाता खोल और संचालित किया जा सकता है। एक लड़की के लिए दो खाते नहीं खोले जा सकते।

खाता खोलने के टाइम लड़की का Birth Certificate और माता या पिता का Saving Account details चाहिये होगा | और साथ में पैसा जमाकर्ता का ID Proof और Residential Proof भी चाहिये होगा |

खाते में कितना जमा किया जा सकता है ?

खाता न्यूनतम 250 रुपये की प्रारंभिक जमा राशि के साथ खोला जा सकता है | और एक financial year में 1,50,000 रुपये से ज्यादा आप खाते में नहीं रख सकते | खाता खोलने के तारीख से अगले 15 साल तक खाते में पैसा जमा किया जा सकता है |

9-वर्षीय के लिए, जमा को तब तक जारी रखना होगा जब तक कि बच्ची 24 वर्ष की नहीं हो जाती यानी 15 साल तक । 24 से 30 वर्ष की आयु (जब खाता mature होता है) के बीच, खाता शेष पर ब्याज अर्जित करता रहता है। एक अनियमित खाता जहां न्यूनतम राशि जमा नहीं की गई है, उसपे प्रति वर्ष 50 रुपये की penalty लग सकती है |

खाते में पैसा जमा करने का तरीका क्या है?

खाते में जमा नकद या चेक या डिमांड ड्राफ्ट द्वारा किया जा सकता है | आप किसी भी संबंधित डाकघर या बैंकों में इलेक्ट्रॉनिक माध्यम (ई-ट्रांसफर) से जमा कर सकते हैं अगर उनके पास CBS (Core Banking Solution) की facility available हो तो |

यदि चेक या डिमांड ड्राफ्ट द्वारा money deposit किया जाता है, तो चेक या डिमांड ड्राफ्ट के नकदीकरण की तिथि खाते में जमा करने की तिथि होगी , जबकि ई-ट्रांसफर के लिए, यह डिपॉजिट की तारीख होगी ।

जमा पर ब्याज दर की गणना कैसे की जाती है?

सरकार तिमाही आधार पर ब्याज दरों को तय करती है | सुकन्या योजना के लॉन्च के बाद से ब्याज दर निम्नलिखित रूप से है:

Interest Rate for the PeriodInterest Rate
From April 1, 20149.1%
From April 1, 20159.2%
From April 1, 2016 -June 30, 20168.6%
From July 1, 2016-September 30, 20168.6%
From October 1, 2016-December 31, 20168.5%
From July 1, 2017 – December 31, 20178.3%
From January 1, 2018 – 31 March 20188.1%
From April 1, 2018 – 30 June 20188.1%
From July 1, 2018 – 30 September 20188.1%
Form October 1, 2018 – 31st December 20188.5%
From January 1, 2019 – 31 March 20198.5%
credit link click here

सरकार द्वारा अधिसूचित की जाने वाली दर पर ब्याज, चक्रवृद्धि वार्षिक रूप से खाते में जमा किया जाएगा। ब्याज की गणना कैलेंडर माह के लिए 10 वें दिन की समाप्ति और महीने के अंत के बीच की गई जमा राशियों पर सबसे कम शेष राशि पर की जाएगी।

खाता कैसे संचालित होता है?

खाता 10 वर्ष की आयु तक उसके नाम पर बालिका के माता पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा खोला और संचालित किया जाता है। जब बालिका 10 वर्ष की हो जाती है, तो बालिका स्वयं खाते का संचालन कर सकती है, हालाँकि, खाते में बालिका के माता पिता या क़ानूनी अभिभावक बालिका के नाम पर पैसा deposit रख सकते हैं ।

किन परिस्थितियों में समय से पहले खाता बंद किया जा सकता है?

खाता धारक की अगर मृत्यु हो जाये उस स्थिति में मृत्यु प्रमाण पत्र के उत्पादन पर खाता तुरंत बंद कर दिया जाएगा, और खाते में शेष राशि का भुगतान किया जाएगा, साथ ही ब्याज के साथ खाताधारक के अभिभावक को सब interest के साथ pay कर दिया जायेगा |

किसी अन्य स्थिति में SSY खाता खोलने के 5 साल बाद आप premature account closure की अर्जी डाल सकते हैं | लेकिन यह भी कोई अगर medical treatment या medical emergency हो तभी आप account क्लोज कर सकते हैं | फिर भी, यदि खाते को किसी अन्य कारण से बंद करना पड़ता है तो पूरी जमा राशि केवल पोस्ट ऑफिस सेविंग्स बैंक खाते में जमा होगी |

SEE ALSO: Top 12 WhatsApp Tips and Tricks in 2020

पासबुक में क्या दर्ज है?

जब एक खाता खोला जाता है, तो जमाकर्ता को एक पासबुक दी जाती है जिसमें लड़की के जन्म की तारीख, खाता खोलने की तारीख, खाता संख्या, खाताधारक का नाम और पता और जमा की गई राशि का संपूर्ण विवरण होता है। खाते में पैसा जमा करने और ब्याज का भुगतान प्राप्त करने के समय, और परिपक्वता पर खाते के अंतिम बंद होने के समय पासबुक डाकघर या बैंक में जमा करना अनिवार्य है |

क्या खाता स्थानांतरित किया जा सकता है?

हां, भारत में कहीं भी खाते को हस्तांतरित किया जा सकता है | माता-पिता / अभिभावक या खाताधारक के निवास स्थान के स्थानांतरण के प्रमाण प्रस्तुत करने परस्थानांतरित निशुल्क होता है | यदि ऐसा कोई प्रमाण प्रस्तुत नहीं किया जाता है, तो आवेदक को पोस्ट ऑफिस या जिस बैंक में स्थानांतरण किया जाता है, उसे 100 रुपये का भुगतान करना होगा। ट्रांसफर इलेक्ट्रॉनिक रूप से हो सकता है अगर डाकघर या बैंक में CBS (Core Banking Solution) की सुविधा हो तो ।

आंशिक वापसी के नियम क्या हैं?

उच्च शिक्षा और विवाह के उद्देश्य के लिए खाता धारक की वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए, पूर्ववर्ती वित्तीय वर्ष के अंत में खाते के क्रेडिट पर शेष राशि का 50 प्रतिशत तक की निकासी की अनुमति है। हालांकि, खाताधारक के 18 वर्ष के होने पर ही निकासी की अनुमति दी जाएगी।

इसके लिए, न केवल एक लिखित आवेदन, बल्कि एक शैक्षिक संस्थान में एक निश्चित प्रवेश की पेशकश के रूप में दस्तावेजी प्रमाण या ऐसी संस्था से शुल्क पर्ची जो यह स्पष्ट करती है कि ऐसी वित्तीय आवश्यकता की आवश्यकता है।

क्या एनआरआई बालिका के नाम से खाता खोला जा सकता है?

एक बालिका SSY खाते के लिए केवल तभी योग्य होती है जब वह खाता खोलने के बाद भारतीय नागरिक के रूप में निवासी हो और परिपक्वता या खाता बंद होने तक यहीं रहती है।

किसी भी non residential बालिका SSY account open नहीं कर सकती | अगर किसी बालिका का residential address change होके किसी foreign contry का हो गया है तब उस account में कोई interest credit नहीं होगा | और जिस दिन से इस देश का residence address change होगा उसी दिन से interest credit होना बंद हो जायेगा और account को closed declare कर दिया जायेगा |

इस योजना में कर लाभ क्या हैं?

वर्तमान में, SSY एक संप्रभु गारंटी के साथ उच्चतम कर-मुक्त रिटर्न प्रदान करता है और exempt-exempt-exempt (EEE) स्थिति के साथ आता है। वार्षिक जमा (contributions) धारा 80 C लाभ के लिए योग्य है completely tax free है |

SOURCE: सूचना को वित्त मंत्रालय और RBI की वेबसाइट से एकत्र किया गया है, और इसतरह से प्रस्तुत किया गया है कि एक आम पाठक समझ सके |

Conclusion

दोस्तों यह था मेरा post Sukanya Samriddhi Yojana Complete Details | इस post में जो भी लिखा है वोह बस आपको एक छोटी सी knowledge देने के लिए था Sukanya Samriddhi Yojana के बारे में | आप complete details जानने के लिए ऑफिसियल website देख सकते हैं | Rules और Subject change हो सकते हें टाइम के साथ साथ | अगर post पसंद आये तो दोस्तों के साथ share करें और मैं आपलोगों से मिलता हूँ नेक्स्ट post में तबतक के लिए जय हिन्द , जय भारत |

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap